इन्तेजार शायरी | Intezaar Shayari in Hindi

Intezaar Shayari : अगर आप किसी से प्यार करते है और उसी के याद में इन्तेजार शायरी भेजना चाहते है तो आप सही लेख पर यहाँ आपको बेस्ट 61+ Intezaar Shayari उपलब्ध कराये है जो आपको काफी पसंद आएगा इसे आप सोशल मीडिया पर स्टेट्स या पोस्ट कर सकते है।

Intezaar Shayari in Hindi

(1)

🌹🌹😥😰😕😐😳😞🌹🌷 एक रात वो गया था जहाँ बात रोक के,
अब तक रुका हुआ हूँ वहीं रात रोक के।  🌺🥀🌮🧀🍹😀🌷☘🌞🌺🥀

Intezaar Shayari

(2)

🌹🌷 ऐ मौत उन्हें भुलाए ज़माने गुजर गए,
आ जा कि ज़हर खाए ज़माने गुजर गए,
ओ जाने वाले आ कि तेरे इंतजार में,
रास्ते को घर बनाए ज़माने गुजर गए।  🌺🥀🌮

(3)

🌹🌹😥😰😕😐😳😞🌹🌷 आँखों ने जर्रे-जर्रे पर सजदे लुटाये हैं,
क्या जाने जा छुपा मेरा पर्दानशीं कहाँ।  🌺🥀🌮🧀🍹😀🌷☘🌞🌺🥀

(4)

🌹🌹😥😰😕😐😳😞🌹🌷 हर आहट पर साँसें लेने लगता है,
इंतज़ार भी भला कभी मरता है।  🌺🥀🌮🧀🍹😀🌷☘🌞🌺🥀

(5)

🌹🌹😥😰😕😐😳😞🌹🌷 हालात कह रहे हैं मुलाकात नहीं मुमकिन,
उम्मीद कह रही है थोड़ा इंतज़ार कर।  🌺🥀🌮🧀🍹😀🌷☘🌞🌺🥀

(6)

😕😐😳😞🌹🌷 आँखें रहेंगीं शाम-ओ-शहर मुन्तज़िर तेरी,
आँखों को सौंप देंगे तेरा इंतज़ार हम।  🌺🥀🌮🧀🍹😀🌷

(7)

😞🌹🌷 आँखों के इंतज़ार का दे कर हुनर चला गया,
चाहा था एक शख़्स को जाने किधर चला गया,
दिन की वो महफिलें गईं रातों के रतजगे गए,
कोई समेट कर मेरे शाम-ओ-सहर चला गया।  🌺🥀🌮

(8)

🌹🌷 आधी से ज्यादा शबे-ग़म काट चुका हूँ,
अब भी अगर आ जाओ तो ये रात बड़ी है।

(9)

🌹🌷 जान देने का कहा मैंने तो हँसकर बोले,
तुम सलामत रहो हर रोज के मरने वाले,
आखिरी वक़्त भी पूरा न किया वादा-ए-वस्ल,
आप आते ही रहे मर गये मरने वाले।  🌺🥀🌮

(10)

😞🌹🌷 बस यूँ ही उम्मीद दिलाते हैं ज़माने वाले,
कब लौट के आते हैं छोड़ कर जाने वाले।  🌺🥀🌮🧀🍹😀

(11)

😳😞🌹🌷 रात भर जागते रहने का सिला है शायद,
तेरी तस्वीर सी महताब में आ जाती है। 🌺🥀🌮🧀🍹

Best Intezaar Shayari

(12)

   उम्मीदों के शहरे जिए जा रहे है,
तेरे नाम होठों पे लिए जा रहे है,
एक वो है जो आने का नाम नहीं लेती,
एक हम है कि इंतज़ार किये जा रहे है.

(13)

   कटते किसी तरह से नहीं हाए क्या करूँदिन हो गए पहाड़ मुझे इंतिज़ार के

(14)

   ओ जाने वाले आ कि तिरे इंतिज़ार मेंरस्ते को घर बनाए ज़माने गुज़र गए

(15)

   दिल में इंतज़ार की लकीर छोड़ जायेंगे,
आँखों में यादों की नमी छोड़ जायेंगे,
ढूंढ़ते फिरोगे हमें एक दिन,
जिंदगी में एक यार की कमी छोड़ जायेंगे.

(16)

खुद हैरान हूँ मैं अपने सब्र का पैमाना देख कर,
तूने याद भी ना किया,
और मैंने इंतज़ार नहीं छोड़ा।

(17)

कल भी तुम्हारा इंतज़ार था,
आज भी तुम्हारा इंतज़ार है,
और हमेशा तुम्हारा ही इंतज़ार रहेगा।

(18)

तुम्हारी यादों पर इख़्तियार हो नही सकता,
लौट आओ के अब इंतज़ार हो नही सकता।

Intezaar Shayari

(19)

उम्मीद भी बड़े कमाल की चीज़ होती है,
सब्र गिरवी रख इंतज़ार थमा देती है।

(20)

इंतज़ार के इन लम्हों में,
ज़माना ना जीत जाए,
इंतज़ार करते-करते कहीं,
ज़िन्दगी ना बीत जाए।

(21)

किन लफ्जों में लिखूँ मैं अपने इंतज़ार को तुम्हें,
बेजुबां है इश्क़ मेरा ढूंढ़ता है खामोशी से तुझे।

(22)

वादा है खुद से अगर तुम ना मिली इतना दूर चला जाऊंगा तुझसे,
फिर इंतजार करती रह जाओगी,
कभी ना मिल पाऊंगा तुझसे।

(23)

फिर इंतजार करती रह जाओगी,

(24)

कभी ना मिल पाऊंगा तुझसे।

Ishq Intezaar Shayari

(25)

😞🌹🌷 मोहब्बत का नतीजा दुनिया में हमने बुरा देखा जिन्हे दावा था,
वफा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा 🌺🥀🌮🧀🍹😀🌷☘🌞🌺🥀

(26)

😞🌹🌷 मेरे कलम से लफ्ज़ खो गए सायद,
आज वो भी बेवफा हो गाए सायद,
जब नींद खुली तो पलकों में पानी था,
मेरे ख्वाब मुझपे रो गाए सायद  🌺🥀🌮

(27)

🌹🌷 क्या जानो तुम बेवफाई की हद दोस्तों,
वो हमसे इश्क सीखती रही किसी ओर के लिए।🌷☘🌞🌺🥀

(28)

🌹🌷 रुशवा क्यों करते हो तुम इश्क़ को,
ए दुनिया वालो, मेहबूब तुम्हारा बेवफा है,
तो इश्क़ का क्या गनाह।  🌺🥀🌮🧀

(29)

😞🌹🌷 बहुत अजीब हैं ये मोहब्बत करने वाले,
बेवफाई करो तो रोते हैं और वफा करो तो रुलाते हैं। 🌺🥀🌮

(30)

😞🌹🌷 वो मिली भी तो क्या मिली बन के बेवफा मिली,
इतने तो मेरे गुनाह ना थे जितनी मुझे सजा मिली। 🌺🥀🌮🧀

(31)

😳😞🌹🌷 अब तेरी मोहब्बत पर मेरा हक तो नहीं सनम,
फिर भी आखिरी साँस तक तेरा इंतजार करेंगे। 🌺🥀🌮🧀

(32)

😞🌹🌷 एक अजनबी से मुझे इतना प्यार क्यूँ है,
इन्कार करने पर चाहत का इकरार क्यूँ है,
उसे पाना नहीं मेरी तकदीर में शायद,
फिर भी हर मोड़ पर उसका इंतजार क्यूँ है। 🌺🥀

(32)

🌹🌷 कभी तो चौंक के देखे कोई हमारी तरफ़,
किसी की आँख में हमको भी इंतज़ार दिखे। ☘🌞🌺🥀

(33)

😀😀😀😀😀😀😀

आस्तीं उस ने जो कुहनी तक चढ़ाई वक़्त-ए-सुब्ह
आ रही सारे बदन की बे-हिजाबी हाथ में

(34)

अंदाज-ऐ-प्यार तुम्हारी एक अदा है..
दूर हो हमसे तुम्हारी खता है..
दिल में बसी है एक प्यारी सी तस्वीर तुम्हारी..
जिस के नीचे ‘आई मिस यू’ लिखा है..

Intezaar Shayari Text

(35)

जो #दिल ❤ के #आईने 😘 में हो ☝ वही #प्यार 💑 के #काबिल है, 
💕👌 वरना #दीवार 😒 के #काबिल 😏 तो हर #तस्वीर 🖼 होती है.  💯❤

(36)

मुझ को मज़ा है छेड़ का, दिल मानता नहीं,
गाली सुने बग़ैर… सितमगर कहे बग़ैर…।

(37)

आपने नज़र से नज़र कब मिला दी,
हमारी ज़िन्दगी झूमकर मुस्कुरा दी,
जुबां से तो हम कुछ भी न कह सके,
पर निगाहों ने दिल की कहानी सुना दी😘😘😍😍

(38)

Tere Husn Ko,
Parde Ki Zaroorat Hi Kya Hai Zaalim,
Kon Rehta Hai Hosh Main,
Tujhe Dekhne K Baad.

(39)

जब कभी सिमटोगे तुम… मेरी इन बाहों में आकर,
मोहब्बत की दास्तां मैं नहीं मेरी धड़कने सुनाएंगी।

(40)

मिली है जबसे नजरे तुमसे, ये दिल जोरो से धड़कता है,
तुम मेरी जिंदगी बन जाओ, मेरा दिल इंतजार करता है।

Intezaar Shayari

(41)

यूं सताया ना कर मुझे, ये दिल जोरो से धड़कता है,
तेरे आने के इंतजार में, ये आज भी तड़पता है।

(42)

तेरे लब्ज़ छू ले मुझे, ऐसा मंजर कहा होता है,
तु बाहों लेले मुझे, ये हर रात इंतजार होता है।

(43)

ये बारिश भी आ गई, अब तेरा इंतजार है मुझे,
तेरे होंठो को छू लूं ऐसी ख्वाहिश है मुझे।

(44)

आ के लिपट जाने का मन करता है,
तेरे इश्क डूब जाने का दिल करता है,
ये इंतजार की घड़ियां भी धीमी हो गई,
यू दौड़ के आ जाऊ तेरे पास दिल करता है।

Intezaar Shayari in Hindi for Boyfriend

(45)

अब हालात कुछ ऐसे है हमारे की मुलाकात अब हो नही सकती,
दिल आज भी कह रहा है थोड़ा इंतजार कर।

(46)

कब तक करू इंतजार तेरा,
तूझे देखने को आंखे तरस गई है,
ये दिल चीख चीख कर कह रहा है,
एक मुलाकात तो हो।

(47)

ये दिल तु थोड़ा इंतजार तो करले,
होगी मुलाकात दिल बेकरार तो कर ले,
ये इश्क है इसमें ऐसा होता रहता है,
ये पहली मुलाकात है थोडा सब्र तो कर ले।

(48)

इश्क में इंतजार तो होता रहता है,
ये दिल बेकरार तो होता रहता है,
तु रूठ भी जाए तो मना लेंगे तुझे,
तेरे रूठने का सिलसिला चलता रहता है।

(49)

एक वक्त वो था की तुम गए कुछ बात अधुरी छोड़ कर,
हमे आज भी इंतजार है वो बात पुरी होने की।

(50)

तूझे पाने की ख्वाइश में हर रोज़ मरते हैं,
तु पास हो इंतज़ार करते हैं, जूठा ही सही तुम वादा तो करते हो,
हम सच मानकर तेरी हर बात ऐतबार करते हैं।

(51)

तु दूर ही सही तुझसे सच्चा इश्क करते है,
तेरे नाराजगी के बाद भी इंतज़ार करते है,
तुझे दूर जाना इतना आसन होता तो चले जाते,
आज भी तेरी यादें इस दिल को बेकरार करती है।

(52)

तुम पास हो मेरे तुझे पे बेइंतहा प्यार आता है,
तुम हो जाओ मुझसे दूर तेरा इंतज़ार सताता है,
कैसे बताएं तुम्हे इस दिल की हालत,
तुमसे पल भर भी दूर नहीं रहा जाया है।

(53)

मिलने का मज़ा अक्सर इंतज़ार के बाद ही आता है।

(54)

कभी कभी अगर इंतज़ार की बेचैनी समझ ना आये,
तो आईने के सामने आकर अपनी बेचैनी दूर कर लिया कीजिए।

(55)

तुझे ना हासिल कर के भी ये सुकून तो रहा,
कम से कम तेरे इंतज़ार में समय तो नहीं गवायाँ।

(56)

उन्हें मुझसे नफ़रत थी और मुझे घमंड,
अजीब हैं नफ़रत करने वाले भी हर महफ़िल मे हमारी चर्चा करते हैं।

(57)

इन्तेजार का मौसम चला, दिल की धड़कन बढ़ गई।
क्यों दिल बेचैन हो रहा है, कुछ तो खास खबर सुनाएं तुम।

(58)

वक़्त की मार से ज़रा ढक जा, इन्तेज़ार अभी बाक़ी है।
आएंगे वो लम्हे जिसमें, मिलेगी ज़िंदगी की राहत सबकी।

(59)

बैठे हैं अब तक तुम्हारे इंतज़ार में,
आँखों में छाई है बेचैनी तुम्हारे इंतज़ार में।
कह रहा है दिल की धड़कन बिना तुम्हारे,
ये ज़िन्दगी बेमौसम है इंतज़ार में।

(60)

वक़्त के सागर में खड़े हैं हम,
इंतज़ार की घड़ी का करते हैं गुज़ारिश।
मिल जाए वो जिंदगी की राहों में,
हो जाए सब कुछ सारी दुनिया का हमें।

(61)

कभी धूप में, कभी छाँव में,
इंतज़ार के मौसम लिए बैठे हैं।
जाने कब आएगा वो मोसम,
जिसमें मिलेगी खुशियों की सौगात हमें।

(62)

बैठे बैठे इंतज़ार करते हैं,
वो पल जो आएगा हमारे नज़दीक।
क्या पता वो पल हमें खुशी दे जाए,
जिंदगी के सफर में हमारे साथ हो वो जीवन का एक ख़ूबसूरत सफ़र।

Leave a Comment